Apan Jayal

जायल में आपका हार्दिक स्‍वागत दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं


सोमवार, 20 मई 2013

भीषण गर्मी का कहर, कई जगह तापमान 45 डिग्री से ऊपर

मई के महीने में राजधानी तपती गर्मी से जल रही है। हालांकि रविवार को दिल्ली में औसत तापमान करीब 44.5 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहा, लेकिन आयानगर में पारे ने 45 डिग्री के स्तर को छू लिया। आने वाले दिनों में औसत तापमान 45 डिग्री के पार गया तो मई में अधिकतम तापमान का अब तक का रिकॉर्ड भी टूट सकता है। मौसम विभाग के मुताबिक आज और कल दिल्ली और एनसीआर में गर्म हवा के तेज थपेड़े चल सकते हैं।

घरों से बाहर नहीं निकल रहे दिल्‍ली वाले 

चिलचिलाती-तपती गर्मी के इस प्रकोप ने जहां दिलवालों की दिल्ली को घरों में समेट दिया है, वहीं बाहर निकलने वाले लोग सूरज के कहर से बचने के लिए तमाम तरह के उपाए करते देखे गए। तपते सूरज तले-जलते पानी ने ठंडक का अहसास कम कर दिया। परिंदे भी पेड़ों की छांव में सुकून नहीं पा रहे। इंडिया गेट पर जहां रेगिस्तान में दिखने वाली मरीचिका नजर आ रही है। फिर भी रविवार के दिन यहां सैकड़ों सैलानी जुटे। टोपी-आईसक्रीम-पानी-शर्बत। गर्मी से बचने की उनकी हर तरकीब नाकाफी साबित हुई। ये उस तापमान का कहर है जिसने रविवार को आयानगर इलाके में 45 डिग्री का स्तर भी छू लिया। 

टूट सकते हैं सारे पुराने रिकॉर्ड 

मई में गर्मी का ये हाल कई साल के अधिकतम तापमान को पीछे छोड़ सकता है। 1998 में दिल्ली के पालम में 41 डिग्री सेल्सियस और 1944 में सफदरजंग में 47.2 डिग्री सेल्सियस अधिकतम तापमान रिकॉर्ड किया गया था। गर्मी का ये हाल साफ आसमान-तेज धूप और उत्तर-पश्चिम गर्म हवाओं की वजह से है। इसी वजह से अब लू भी चलने लगी है।

रविवार, 19 मई 2013

क्रमोन्नति पर मची होड़ .....


अपना जायल ।
उच्च प्राथमिक से माध्यमिक, माध्यमिक से उच्च माध्यमिक स्कूलों की क्रमोन्नति पूरे राजस्थान में हुई है पर नागौर जिले में इसका श्रेय लेने की भी होड़ मची हुई है।
एक ही जगह के विद्यालयों की क्रमोन्नति का श्रेय दो-दो लोग ले रहे है और लोगों को भ्रमित किया जा रहा है।

मुश्किलों भरा ‘रेल टिकट’ बुक कराना

छुट्टियां हो गई हैं ऐसे में हर कोई अपनी दादी-नानी के घर या घूमने जाने का प्लान बनाता है। और जब वो इसके लिए रेल टिकट बुक करता है तो काफी मशक्कत के बाद भी उसे रेल टिकट हासिल नहीं हो पाता। रिजर्वेशन कराया लेकिन सीट कंफर्म नहीं हुई, तत्काल टिकट लेने गए तो पता चला समय से पहले ही सारे के सारे रेल टिकट बुक हो गए और जब इन सबसे भी बात नहीं बनी और ब्रोकर के जरिए टिकट लेना चाहा तो वहां भी पैसों की बारिश करने के बाद भी निराशा ही हाथ लगती है। 

नए रेल बजट के बाद तत्काल रेल टिकटों की कालाबाजारी रोकने के लिए तत्काल रेल टिकट बुकिंग 8 की बजाए 10 बजे की और उसे सिर्फ यात्रियों के लिए खोला ताकि ब्रोकर टिकट न खरीद पाएं लेकिन ब्रोकरों ने दूसरा रास्ता निकाल कर यात्रियों के लिए मुश्किलें खड़ी कर दी। 

तत्काल रेल टिकट बुकिंग के नए नियम


अब तत्काल टिकटों की बुकिंग सुबह 8 बजे की जगह सुबह 10 बजे से शुरू होगी। ट्रेन के शुरुआती स्टेशन से खुलने के एक दिन पहले से तत्काल बुकिंग हो सकेगी। इसके अलावा, बुकिंग ओपन होने के 2 घंटे के दौरान (सुबह 10 बजे से 12 बजे के बीच) रेलवे के अधिकृत एजेंट भी ऑनलाइन या टिकट खिड़की से तत्काल टिकटों की बुकिंग नहीं करा सकेंगे। आईआरसीटीसी की वेबसाइट से रिजर्वेशन कराने पर अब एक आईपी एड्रेस से एक बार में सिर्फ दो टिकट बुक होंगे। दिन में 10 से 12 बजे के बीच कोई एजेंट तत्काल टिकट नहीं ले सकेगा। किसी एजेंट की यूजर आईडी के इस्तेमाल किए जाने पर उसे ब्लैक लिस्टेड कर दिया जाएगा। 

एजेंट्स से ई-रेल टिकट बुक कराना अपराध

अब सुबह 8 बजे से दोपहर 12 बजे के दौरान एजेंट्स के जरिए रेलवे ई-टिकट खरीदना आपको भारी पड़ सकता है। रेलवे ने साफ किया है कि अगर कोई पैसेंजर इस समय सीमा के बीच एजेंट से टिकट खरीद कर यात्रा करता पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। सुबह 8 बजे से दोपहर 12 बजे की समय सीमा के दौरान टिकट बुक करने का अधिकार सिर्फ यात्रियों को है, एजेंट्स को नहीं। रेलवे ने ये कदम एजेंटों की मनमानी के खिलाफ लगातार मिल रही शिकायतों के मद्देनजर उठाया है। साथ ही, रेलवे ने यात्रियों को उन एजेंट्स से सावधान रहने की सलाह दी है जो टिकट बुकिंग और कैंसलेशन पर तय चार्ज से ज्यादा वसूलते हैं।

ऑथोराइज्ड एजेंट्स की लिस्‍ट जारी करेगा रेलवे 

यात्रियों की मदद के लिए आईआरसीटीसी जल्दी ही ऑथोराइज्ड एजेंटस की लिस्ट वेबसाइट पर डालेगा। इसके पहले भी रेलवे ने ऐसे कदम उठाए हैं जिससे यात्रियों को तत्काल या सामान्य टिकट मिलने में दिक्कतें ना हों। इन कदमों के तहत तत्काल टिकट बुकिंग का समय सुबह आठ बजे से बढ़ाकर दस बजे कर दिया गया है। साथ ही, एडवांस टिकट बुकिंग की अवधि भी 120 दिनों से घटाकर 60 दिन कर दी गई है। 

रिजर्वेशन, कैंसिलेशन और तत्काल टिकट महंगा

सेकेंड क्लास में टिकट कैंसिल करने पर अब 20 की जगह 30 रुपए कटेगा। जबकि स्लीपर में 30 और 40 की बजाय 60 रूपए कटेगा। वेटिंग और आरएसी के टिकट कैंसिल कराने पर अब 15 और 30 रूपए देने होंगे। सेकेंड और स्लीपर क्लास में आरक्षण शुल्क में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है लेकिन बाकी श्रेणियों में इसमें इजाफा किया गया है, लेकिन सभी श्रेणियों के सरचार्ज में इजाफा किया गया है। सेकेंड और स्लीपर क्लास में यह शुल्क मौजूदा 10 और 20 रूपए से बढ़ाकर 15 और 30 रूपए कर दिया गया है।

ई-टिकट बुक कराना होगा आसान

आईआरसीटीसी से टिकट बुक कराने पर ट्रांजैक्शन फेल्ड जैसी दिक्कत से आपको छुटकारा मिलने वाला है। रेल टिकट  की ऑनलाइन बुकिंग को आसान बनाने के लिए आईआरसीटीसी एक नई स्कीम ‘रोलिंग डिपॉजिट स्कीम’ (आरडीएस) लॉन्च करने की तैयारी में है। आरडीएस स्कीम में आप आईआरसीटीसी के खाते में एडवांस पैसा जमा कर टिकट की बुकिंग करा सकते हैं। ये एक जमा खाते की तरह काम करेगा जिसे आप टॉप-अप भी करा सकते है। अभी ऑनलाइन टिकट के पेमेंट थर्ड पार्टी गेटवे के जरिए होता है। इस जरिए से टिकट बुक होने में काफी वक्त लगता है। कई बार बैंक का गेटवे व्यस्त होने की वजह से टिकट बुक नहीं हो पाती। इसी मुश्किलों से लोगों को बचाने के लिए आईआरसीटीसी ये पहल कर रहा है। आरडीएस स्कीम में रजिस्टर करावाने के लिए आपको 250 रुपये का चार्ज लगेगा। इसके अलावा अकाउंट में कम से कम 1,500 से 2,000 रुपये भी जमा करवाने होंगे।

1 मिनिट में 7,200 रेल टिकट होगी बुक 

रेल बजट पेश में नई ई-टिकटिंग प्रणाली शुरू हुई जिससे ऑनलाइन टिकट बुकिंग की गति तेज हुई। ये नई प्रणाली में एक मिनट के भीतर 7,200 टिकट बुक करने की क्षमता है, जबकि मौजूदा क्षमता एक मिनट में 2,000 टिकट बुक करने की है। 

तीन साल बाद ऐसी होगी संजय दत्त की जिंदगी!


संजय दत्त को अब तीन साल के लिए भूल जाइए। 1993 मुंबई बम धमाका केस में अवैध हथियार रखने के आरोप में वो जेल जा चुके हैं। फिलहाल तो वो अखबारों और न्यूज चैनलों की सुर्खियों में हैं। सोशल नेटवर्किंग साइट पर भी चर्चा में हैं। लेकिन तीन सालों में बहुत कुछ बदल सकता है। हमारी याददाश्त बड़ी कमजोर होती है। जब तक संजय पूरी हो चुकी फिल्में रिलीज होंगी तब तक वो हमें याद आते रहेंगे लेकिन फिर धीरे-धीरे वो आखिरी पन्नों की खबर बन जाएंगे और फिर दो सालों बाद शायद खबरों से भी दूर हो जाएं। तीन साल बाद उनकी जिंदगी कैसी होगी उससे पहले जानते हैं उनकी अभी की जिंदगी कैसी है और जेल में रहते हुए उनका वक्त कैसा बीतने वाला है।

आईपीएल हावी हुआ संजय के गम पर!

अभी आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग की खबरों ने ही संजू बाबा की विदाई को फीका कर दिया। सभी चैनल कंफ्यूज दिखाई दिए कि किस बात पर शोर किया जाए। संजय के जेल जाने पर या फिर शिल्पा शेट्टी की आईपीएल टीम राजस्थान रॉयल्स के खिलाड़ियों के काले कारनामों पर। और आखिर में जीत हुई स्पॉट फिक्सिंग की। संजय दत्त की विदाई हाशिए पर चली गई। यहां तक की जेल जाने से पहले उनसे आखिरी बार मिलने और उनका जेल तक साथ देने के लिए भी कोई बड़ा सितारा नहीं पहुंचा। पहुंचे तो बस कुछ गिनेचुने दोस्त और परिवार के सदस्य। बाकि शायद शिल्पा की टीम की खबरों में उलझ गए थे। 

जेल में ‘भगवान भरोसे’ संजू बाबा!

संजय दत्त के लिए जेल में एक महीने तक घर का खाना आएगा। उसके बाद उन्हें जेल का ही खाना मिलेगा। खास बात ये है कि इस बार उन्हें जेल में बावर्ची का काम करना होगा जिसके लिए उन्हें 25 रुपए दिन पगार भी मिलेगी। संजय दत्त की मांग पर टाडा कोर्ट ने उन्हें अपने साथ घर का गद्दा, तकिया, हनुमान चालीसा, रामायण, भगवद्गीता, टूथपेस्ट, शैम्पू, हवाई चप्पल, कुर्ता-पायजामा, मच्छरों को दूर रखनेवाली अगरबत्ती और एक पंखा ले जाने की इजाजत दी है। उनकी हनुमान चालीसा, रामायण, और भगवद्गीता की मांग को देखकर लगता है कि जेल में रहकर संजय अपना ध्यान भक्ति में लगाने वाले हैं। 

2013 में संजय का करियर खत्म! 

संजय जिन फिल्मों की शूटिंग पूरी कर गए हैं वो उनके जेल में रहते हुए ही रिलीज होंगी। इनमें हम हैं राही कार के, पुलिसगिरी, जंजीर, उंगली और पीके जैसी फिल्में शामिल हैं। अजीब इत्तेफाक है कि पुलिस की गिरफ्त में संजू बाबा हम हैं राही कार में खुद पुलिसवाले का किरदार निभा रहे हैं। हालांकि फिल्म में उनका रोल ज्यादा बड़ा नहीं है। ये फिल्म 24 मई को रिलीज हो रही है। वहीं रिमेक जंजीर में संजय शेरखान के रोल में नजर आएंगे जिसे ओरिजनल जंजीर में महान अभिनेता प्राण ने निभाया था। ये फिल्म जून के आखिरी में या जुलाई में रिलीज करने की योजना है। प्रोड्यूसर टीपी अग्रवाल की फिल्म पुलिसगिरी में भी संजय पुलिस वाले के रोल में हैं। ये फिल्म 25 जुलाई को रिलीज हो सकती है। इमरान हाशमी और कंगना राणावत स्टारर फिल्म उंगली में भी संजय नजर आएंगे। करन जौहर इस फिल्म के प्रोड्यूसर हैं और इसे रेंसिल डिसिल्वा ने डायरेक्ट किया है। इस फिल्म की रिलीज डेट 6 सितम्बर तय की गई है। आमिर खान स्टारर राजकुमार हीरानी की फिल्म पीके एकमात्र ऐसी फिल्म है जो अगले साल रिलीज होगी। हालांकि इस फिल्म में भी संजय का गेस्ट अपीयरेंस है। यानि संजय की लगभग सभी प्रमुख फिल्में 2013 में ही रिलीज हो जाएंगी और उसके बाद कम से कम दो साल तक संजय बड़े पर्दे पर नजर नहीं आएंगे। जेल से रिहा होने के बाद उन्हें कितनी फिल्में मिलेंगी ये तो वक्त ही बताएगा।